Shayri.com  

Go Back   Shayri.com > Stories/Quotes/Anecdotes > Informative Stories

Reply
 
Thread Tools Rate Thread Display Modes
786 ............. by adil rasheed
Old
  (#1)
janumanu
Banned
janumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.comjanumanu is the among the best Shayars at Shayri.com
 
Offline
Posts: 2,586
Join Date: Jun 2008
Location: New Delhi
Rep Power: 0
786 ............. by adil rasheed - 2nd October 2011, 12:02 PM

क्या है ये अंक 786 और क्यूँ मानते हैं इसको शुभ

याद कीजिये फिल्म दीवार का वो मंज़र अमिताभ के सीने पर गोली लगती और उन्हें कुछ नहीं होता गोली उनके बिल्ला नम्बर 786 से टकरा कर बेकार हो चुकी है अमिताभ उस बिल्ले को कोट की जेब से निकाल कर चूमते हैं फिर फिल्म कूली मे वही चमत्कारी बिल्ला नंबर 786 लगाते है कूली मे घायल होते है जिंदगी और मौत की जंग मे जीत ज़िन्दगी की होती है और वो रुपहले परदे पर भी और वास्तविक जीवन मे भी अंक 786 के कायल हो जाते हैं और आज भी उसको अपने लिए शुभ मानते हैं

क्या है ये अंक 786 और क्यूँ मानते हैं इसको शुभ

एक अरबी शब्द है "अबजद" जिसका एक मतलब होता हैं किसी बिद्या को सीखने की सब से पहली स्तिथि यानि अलिफ़,बे,ते (A.B.C.D.) सीखना
जो दूसरा मतलब है वो अपने आप मे एक विद्या हैं किसी भी शब्द के नंबर निकालना ये अरबी की विद्या है इसलिए अरबी के तरीके से ही चलती है इसमें अरबी के हर अक्षर को एक गिनती दी हुई है किसी शब्द मे जो जो अक्षर प्रयोग होते हैं उन को गिन कर जोड़ कर जो अंकफल निकलता है वही उस शब्द के अंक होते है आदिल को उर्दू मे लिखेंगे عادل رشید इसमें प्रयोग हुआ ऐन. अलिफ़ ,दाल, लाम, तो इस में
ऐन के . =70 अलिफ़ के =1 दाल के =4 लाम के =30 टोटल = 105
इसी तरह रशीद रे के =200 शीन के =300 ये के =10 दाल के =4 टोटल=314
आदिल रशीद के हुए 105 +314=419
इसी हिसाबे अबजद से बिस्मिल्लाह हिर रहमानिर रहीम जिसके अर्थ हुए शुरू करता हूँ उस अल्लाह के नाम से जो बेहद रहम वाला है
अगर पुरे वाक्य "बिस्मिल्लाह हिर रहमानिर रहीम" के अंक अबजद से नंबर निकालें तो बनेगे 786 इसी लिए मुस्लिम्स में इसको लकी माना जाता है बहुत से लोग इसको नहीं भी मानते.
इस में हिन्दू मुस्लिम्स एकता का भी एक मन्त्र छुपा है अगर हम इसी तरह से " हरे रामा हरे कृष्णा" के निकालें तो भी निकलेंगे 786 दोनों के बिलकुल एक काश ये हमारे कुछ नेता गण समझ जाएँ इश्वर एक है उसका सन्देश एक है मानवता सब से बड़ा धर्म है.

अरबी के सभी अक्षरों के नम्बर इस प्रकार हैं,
अलिफ़ =1,बे=2,जीम=3,दाल=4,हे=5,=वाओ=6, ज़े=7,बड़ी हे =8,तूए के =9,ये =10
छोटा काफ =20,लाम=30,मीम=40,नून के =50,सीन=60,ऐन =70,फे=80,स्वाद =90,
बड़े काफ =100,रे =200,शीन =300,ते =400,से=500,खे=600,जाल -700,जवाद =800
जोए =900,गैन=1000,

अबजद के खेल में ताश जिसे इल्मी ताश कहा जाता है बच्चे इल्मी ताश खेलते है और आये हुए पत्तों से शब्द बनाते हैं इस से उनका शब्द ज्ञान बढ़ता है


-
aadil rasheed
  Send a message via Yahoo to janumanu  
Reply With Quote
Old
  (#2)
ufaq
AN ILLUSION
ufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.comufaq is the among the best Shayars at Shayri.com
 
ufaq's Avatar
 
Offline
Posts: 726
Join Date: Oct 2011
Rep Power: 28
24th November 2011, 06:38 PM

Quote:
Originally Posted by janumanu View Post
क्या है ये अंक 786 और क्यूँ मानते हैं इसको शुभ

याद कीजिये फिल्म दीवार का वो मंज़र अमिताभ के सीने पर गोली लगती और उन्हें कुछ नहीं होता गोली उनके बिल्ला नम्बर 786 से टकरा कर बेकार हो चुकी है अमिताभ उस बिल्ले को कोट की जेब से निकाल कर चूमते हैं फिर फिल्म कूली मे वही चमत्कारी बिल्ला नंबर 786 लगाते है कूली मे घायल होते है जिंदगी और मौत की जंग मे जीत ज़िन्दगी की होती है और वो रुपहले परदे पर भी और वास्तविक जीवन मे भी अंक 786 के कायल हो जाते हैं और आज भी उसको अपने लिए शुभ मानते हैं

क्या है ये अंक 786 और क्यूँ मानते हैं इसको शुभ

एक अरबी शब्द है "अबजद" जिसका एक मतलब होता हैं किसी बिद्या को सीखने की सब से पहली स्तिथि यानि अलिफ़,बे,ते (A.B.C.D.) सीखना
जो दूसरा मतलब है वो अपने आप मे एक विद्या हैं किसी भी शब्द के नंबर निकालना ये अरबी की विद्या है इसलिए अरबी के तरीके से ही चलती है इसमें अरबी के हर अक्षर को एक गिनती दी हुई है किसी शब्द मे जो जो अक्षर प्रयोग होते हैं उन को गिन कर जोड़ कर जो अंकफल निकलता है वही उस शब्द के अंक होते है आदिल को उर्दू मे लिखेंगे عادل رشید इसमें प्रयोग हुआ ऐन. अलिफ़ ,दाल, लाम, तो इस में
ऐन के . =70 अलिफ़ के =1 दाल के =4 लाम के =30 टोटल = 105
इसी तरह रशीद रे के =200 शीन के =300 ये के =10 दाल के =4 टोटल=314
आदिल रशीद के हुए 105 +314=419
इसी हिसाबे अबजद से बिस्मिल्लाह हिर रहमानिर रहीम जिसके अर्थ हुए शुरू करता हूँ उस अल्लाह के नाम से जो बेहद रहम वाला है
अगर पुरे वाक्य "बिस्मिल्लाह हिर रहमानिर रहीम" के अंक अबजद से नंबर निकालें तो बनेगे 786 इसी लिए मुस्लिम्स में इसको लकी माना जाता है बहुत से लोग इसको नहीं भी मानते.
इस में हिन्दू मुस्लिम्स एकता का भी एक मन्त्र छुपा है अगर हम इसी तरह से " हरे रामा हरे कृष्णा" के निकालें तो भी निकलेंगे 786 दोनों के बिलकुल एक काश ये हमारे कुछ नेता गण समझ जाएँ इश्वर एक है उसका सन्देश एक है मानवता सब से बड़ा धर्म है.

अरबी के सभी अक्षरों के नम्बर इस प्रकार हैं,
अलिफ़ =1,बे=2,जीम=3,दाल=4,हे=5,=वाओ=6, ज़े=7,बड़ी हे =8,तूए के =9,ये =10
छोटा काफ =20,लाम=30,मीम=40,नून के =50,सीन=60,ऐन =70,फे=80,स्वाद =90,
बड़े काफ =100,रे =200,शीन =300,ते =400,से=500,खे=600,जाल -700,जवाद =800
जोए =900,गैन=1000,

अबजद के खेल में ताश जिसे इल्मी ताश कहा जाता है बच्चे इल्मी ताश खेलते है और आये हुए पत्तों से शब्द बनाते हैं इस से उनका शब्द ज्ञान बढ़ता है


-
aadil rasheed
thanks bro.thanks for sharing.
   
Reply With Quote
Old
  (#3)
jat_in_mood
eK Dost !!
jat_in_mood is just really nicejat_in_mood is just really nicejat_in_mood is just really nicejat_in_mood is just really nicejat_in_mood is just really nice
 
jat_in_mood's Avatar
 
Offline
Posts: 278
Join Date: Mar 2004
Location: Muscat, Oman
Rep Power: 20
25th November 2011, 01:53 PM

Adil Bhaijaan salaam !!
Aapne bahot hi achhi baat batayi, mai bhi kai baar is baat ko jaannna chahta tha ki is number ko itna shubh kyun maante hain ...
Mai aajkal Muscat (Oman) mein hoon, yahan ki jubaan arabic hi hai ... Maine socha ki yahaan shayad is baat ka kisi ko maalum ho, maine ek din yahan ki bashinde jo humare sath kaam karte hain unse is number ka jikr kiya tha, to unhe is baat ka koi ilm hi nahi hai ... ye shayad humare bharat mein hi jyada famous hai number, otherwise yahan maine kisi se nahi suna ...
Maafi chahunga, meri kisi baat ka bura nahi maanna ...
Aapka post kaafi achha laga, humara gyaan hi badha hai is se ...
Mai soch raha hoon, arabic seekh loon ... aap kuch raay de is baare mein ki kaise mai arabic seekh sakta hoon apne aap kisi tutorial se to please mera maarg darshan jaroor kariyegaa ... you can PM me in case you can help me in this regard ...
Thanks !!


♪~!*DeeP*!~♪
------------------------------------
Men may come , Men may go .. But i will go on forever ... :-)
   
Reply With Quote
Reply

Thread Tools
Display Modes Rate This Thread
Rate This Thread:

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is On

Forum Jump



Powered by vBulletin® Version 3.8.5
Copyright ©2000 - 2019, Jelsoft Enterprises Ltd.
vBulletin Skin developed by: vBStyles.com