Shayri.com  

Go Back   Shayri.com > Shayri > Shayri-e-Dard

Reply
 
Thread Tools Rate Thread Display Modes
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा......
Old
  (#1)
Rajeev Sharma
Tere Intzaar Mein....
Rajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.comRajeev Sharma is the among the best Shayars at Shayri.com
 
Rajeev Sharma's Avatar
 
Offline
Posts: 1,181
Join Date: Feb 2010
Location: Ludhiana(Punjab)
Rep Power: 37
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा...... - 26th February 2016, 01:34 PM

देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

जो सदा आँख मिलाने से भी डरते हैं
वो भारत की बर्बादी की बात करते हैं
किसमें दम है जो भारत के टुकड़े करे
अब आखिर कब्र में उनका ठिकाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

देश का खाते हो देश से ही जलते हो
देश के ख़िलाफ़ चालें तुम चलते हो
क़साब, जैसे ये आतंकवादी आका तुम्हारे
तुम्हे भी कसाब के पास पहुंचाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

हर बार, बार-बार मुँह की खानी पड़ेगी
ये बात तुम्हे कितनी बार बतानी पड़ेगी
हर बार ईंट का जवाब पत्थर से देंगे हम
तुम्हे तुम्हारी भाषा में ही समझाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

आखिर क्यों अपनी अौकात दिखाते हो ?
क्यों तुम चंद सिक्कों में बिक जाते हो ?
आज यहाँ कल वहाँ दंगा करवाते हो
अब, इस आग में तुम्हे भी जलाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा


maNzil pr nazar rakhtaa huN
zaari apnaa safar rakhtaa huN !!

===========================


sharma.rajeev701@gmail.com
https://www.facebook.com/rajeevsharmaraj111
http://www.rajeevsharmaraj.blogspot.com/
  Send a message via Yahoo to Rajeev Sharma  
Reply With Quote
Old
  (#2)
Madhu 14
Moderator
Madhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud ofMadhu 14 has much to be proud of
 
Madhu 14's Avatar
 
Offline
Posts: 5,211
Join Date: Jul 2014
Rep Power: 27
26th February 2016, 01:48 PM

Quote:
Originally Posted by Rajeev Sharma View Post
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

जो सदा आँख मिलाने से भी डरते हैं
वो भारत की बर्बादी की बात करते हैं
किसमें दम है जो भारत के टुकड़े करे
अब आखिर कब्र में उनका ठिकाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

देश का खाते हो देश से ही जलते हो
देश के ख़िलाफ़ चालें तुम चलते हो
क़साब, जैसे ये आतंकवादी आका तुम्हारे
तुम्हे भी कसाब के पास पहुंचाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

हर बार, बार-बार मुँह की खानी पड़ेगी
ये बात तुम्हे कितनी बार बतानी पड़ेगी
हर बार ईंट का जवाब पत्थर से देंगे हम
तुम्हे तुम्हारी भाषा में ही समझाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

आखिर क्यों अपनी अौकात दिखाते हो ?
क्यों तुम चंद सिक्कों में बिक जाते हो ?
आज यहाँ कल वहाँ दंगा करवाते हो
अब, इस आग में तुम्हे भी जलाना होगा
देश के गद्दारों को सबक सिखाना होगा
लगता है हमें भी हथियार उठाना होगा

Aapne apni bhawnayein..bakhoobi vyaqt ki hai..rajeev ji...

Likhte rahiye..

Aate rahiye..



अर्ज मेरी एे खुदा क्या सुन सकेगा तू कभी
आसमां को बस इसी इक आस में तकते रहे
madhu..
   
Reply With Quote
Old
  (#3)
bhushan
Registered User
bhushan is a jewel in the roughbhushan is a jewel in the roughbhushan is a jewel in the roughbhushan is a jewel in the rough
 
Offline
Posts: 554
Join Date: Nov 2014
Rep Power: 12
27th February 2016, 01:14 PM

Ji bohot khoob likh hai aapnr aur aam aadmi k dil bi baat kahi hai....
Ab humsÍ aatankwadiyo k prati bhi tolerant rahne ki umeed ki ja rahi hai....shantipriyata hamara swabahw hona chahiye.....kamjori nahi...

Bohot bohot daad ....yoon hi likhte rahe...

Aapka apna
Bhushan



Bhushan Joshi
   
Reply With Quote
Reply

Thread Tools
Display Modes Rate This Thread
Rate This Thread:

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off

Forum Jump



Powered by vBulletin® Version 3.8.5
Copyright ©2000 - 2022, Jelsoft Enterprises Ltd.
vBulletin Skin developed by: vBStyles.com